सूर्य नमस्कार करने का तरीका और फायदे – Surya Namaskar Benefits In Hindi

SURYA NAMASKAR BENEFITS IN HINDI
सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार (Surya Namaskar) क्या है?

सूर्य नमस्कार (Surya Namaskar) एक प्राचीन हिंदू आयुर्वेदिक व्यायाम है जो कि सूर्य देवता के सम्मान में किया जाता है। इसमें 12 अलग-अलग आसन होते हैं जो कि शरीर, मन और आत्मा को संतुलित बनाते हैं।

सूर्य नमस्कार हिन्दू धर्म में सूर्य को सम्मान देने का एक तरीका। इसमें सूर्य को पूजा जाता है और उसकी आशीर्वाद की मांग की जाती है। सूर्य हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा तारा है और हमारे संसार में ऊर्जा का सबसे महत्वपूर्ण और प्रभावशाली स्रोत है।

  • SURYA नमस्कार में आसनों की संख्या निर्भर होती है उस व्यक्ति या समुदाय के संस्कृतियों और विधियों पर जो सूर्य नमस्कार करते हैं।
  • कुछ समुदायों में, सूर्य नमस्कार में सूर्य की पूजा के लिए एक स्थान निर्धारित किया जाता है और वहां एक स्थानीय मंदिर या मंदिर में सूर्य की पूजा की जाती है।
  • अन्य समुदायों में, सूर्य नमस्कार घर या अपने स्थान पर भी किया जा सकता है।
  • सूर्य नमस्कार में आसनों की संख्या और तरीका व्यक्ति या समुदाय के संस्कृति और विधियों के अनुसार होती है।

सूर्य नमस्कार के लाभ : SOORYANAMASKAR KE BENEFITS

SURYA NAMASKAR एक योग है, जो कई स्वास्थ्य लाभ और मनोविज्ञानी लाभ प्रदान करता है। इनमें से कुछ महत्वपूर्ण फायदे निम्नलिखित हैं:

शरीर में स्थिरता और शांति: सूर्य नमस्कार करने से शरीर में स्थिरता और शांति बढ़ती है, जो मन में सुख और शांति पैदा करती है।

स्वास्थ्य में सुधार: सूर्य नमस्कार करने से हमारी शरीर में विभिन्न होमोस्टाइज मजबूत होती है, जो हमारी स्वास्थ्य में सुधार पैदा करती है।

मनोविज्ञानी लाभ: सूर्य नमस्कार करने से मन में शांति और स्थिरता बढ़ती है, जो हमारी मनोविज्ञानी स्थति के लिये उत्तम है।

अन्य फायदे: SURYA NAMASKAR KE LABH OR FAIDE

  • सूर्य नमस्कार स्थायी और स्थिर होने के लिए एक अच्छा विधि है।
  • यह आसन मजबूत होने के लिए एक अच्छा विधि है।
  • यह आसन ध्यान को स्थायी और स्थिर बनाने में मदद करता है।
  • यह आसन सेहत और स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है।
SURYA NAMASKAR BENEFITS IN HINDI
SOORYA NAMASKAR BENEFITS
  • यह आसन स्थायी और स्थिर होने के लिए एक अच्छा विधि है।
  • इससे शरीर में स्थायी रूप से स्वस्थता बढ़ती है।
  • इससे हाथ और पैर के मांसपेशियों को मजबूत बनाया जाता है।
  • इससे मस्तिष्क शांत होता है और स्थिरता बढ़ती है।
  • इससे हृदय को फायदा होता है और हृदय रोगों से बचाव होता है।
  • इससे मोटापा कम होता है और शरीर में स्वस्थ तंत्रज्ञान बढ़ता है।

benefit of surya namaskar yoga in hindi

benefit of surya mudra in hindi

सूर्य नमस्कार के कितने आसन है | ASANAS IN SURYA NAMASKAR

SOORYA NAMASKAR या सूर्य नमस्तुभ्य एक प्रसिद्ध हिंदू हारमोनी है, जो सूर्य देव को सम्मान देने के लिए किया जाता है। यह 12 आसन से मिलता है, निम्नलिखित हैं सूर्य नमस्कार के 12 आसन:

  • सूर्यमासिकासन (Suryamaskarasana)
  • हस्तआसन (Hastasana)
  • शुद्धचरणासन (Shuddhacharanasa)
  • अर्धवृषासन (Ardha Vrishasana)
  • अजुह्नासन (Ajjanasana)
  • मंदिरासन (Mandirasana)
  • संधियासन (Samadhayasana)
  • सूर्यासन (Suryaasana)
  • परंपरासन (Paramparasa)
  • आयरनासन (Aryanasa)
  • सर्वनाशकासन (Sarvanashakasana)
  • सूर्यासन (Suryaasana)
SURYA NAMASKAR ASANAS IN HINDI

हर आसन को सही स्थिति में करने के लिए, आपको अपने शरीर को सही स्थान पर रखना होगा।

सूर्य नमस्कार करने का तरीका

सूर्य नमस्कार एक धार्मिक हिन्दू आसन है, जो सूर्य देवता को समर्पित होता है। इसका पाठ सूर्योदय से शुरू होता है और सूर्योदय के बाद समाप्त होता है। निम्नलिखित हैं सूर्य नमस्कार करने का तरीका:

स्थान चुनें: सूर्य नमस्कार को स्वच्छ और संक्षिप्त स्थान पर करना सही होगा। आप घर में भी इसका आसन कर सकते हैं।

स्वस्थ हों: सूर्य नमस्कार को करने से पहले स्वस्थ होना जरूरी है। आपको खाना खाने से पहले 2-3 घंटे की अंतराल बनाना चाहिए।

व्यायाम करें: सूर्य नमस्कार को करने से पहले आपको शरीर को सक्रिय करने के लिए कुछ साधारण व्यायाम करने चाहिये

स्वच्छता और शुद्धता: सूर्य नमस्कार करने से पहले, आपको अपने शरीर को साफ और शुद्ध करना होगा। इससे आपको ध्यान की हैंडलिंग में मदद मिलेगी।

शारीरिक स्थिति: सूर्य नमस्कार करने के लिए, आपको एक आसन बनाने के लिए स्थिति में होना होगा। आपको अपनी तलाश पर बैठना होगा, अपने हाथों को अपने कंधों पर रखना होगा और अपने नाक को साफ करना होगा

सूर्य नमस्कार के नुकसान

यह सूर्य नमस्कार कई स्वास्थ्य लाभ और मनोविज्ञानी लाभ प्रदान करता है, लेकिन इसमें कुछ नुकसान भी हैं। निम्नलिखित हैं सूर्य नमस्कार के कुछ नुकसान:

  • सूर्य नमस्कार करने से आपके शरीर में दर्द हो सकता है। यह आसन अपने शरीर को मजबूत करने में मदद करता है, लेकिन इससे आपके शरीर में दर्द हो सकता है।
  • यदि आपके पास सूर्य नमस्कार करने से संबंधित कोई स्थाई स्वास्थ्य समस्या है, तो आपको सूर्य नमस्कार नहीं करने चाहिए।
  • सूर्य नमस्कार करने से आपके शरीर में हो सकता है पैरों में दर्द। जोकि मांसपेशियों के खिचने के कारण हो सकता है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *